Shayri.com  

Go Back   Shayri.com > Shayri > Shayri-e-Ishq

Reply
 
Thread Tools Rate Thread Display Modes
Barishka Mausam
Old
  (#1)
Firoz Sayyad
Registered User
Firoz Sayyad is just really niceFiroz Sayyad is just really niceFiroz Sayyad is just really niceFiroz Sayyad is just really nice
 
Offline
Posts: 111
Join Date: Jul 2006
Location: Jeddah, Saudi Arabia
Rep Power: 16
Sad Barishka Mausam - 25th October 2018, 03:51 PM

क्या वह अहसास था, एक अजीबसी चाहत हो जैसे
बदल यही गरजते थे, जैसे सारा आसमान भर आया था
ठंडी हवाकि लहरे, लहरोंमें यही दिलका मचलना
टपकती बुँदे, बूंदोंका टपकना जैसा किसीका मुस्कुराना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

एक एक बुंदका, बदनसे सिमटना जैसे दोहरी जिंदगी
एक नयापन, एक नया अंदाज़, एक नया अहसास
बारिशने भिगो दिया, जैसे सारी कायनात भीगे जा रही हैं
पनिका उमड़ना, जैसे ज़ारनोका बहते रहना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

फूलोंसे पत्तोंसे वह बूंदोंका सिमटना, रात की अँगड़ाईयोंमें चमकीले अजूबे
हवाकि लहरोंसे बूंदोंका फिसलना, जमीमे सिमटना
क्या यह अंदाज़ हैं, सारी कयनात्सी महक रही हो
यही ख्याल आये, यह बाहता पानी किसे जाकर मिले
खयालमें उमड़ना, यही वही दुनियामें खोये हुए रहना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

सारी दुनियाको भिगो दिया, बहते हुए रास्तो का पानी
हर चेहरेपे खुशियाली और, जैसे छाई हुई मुस्कराहटे
यह भी एक उसकी करमतसी, जिसने इसे बना दिया
हर मौसम का एक मौसम, बारिश का मौसम
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

-- फ़िरोज़ सय्यद


Main Jindagi hoon teri,
tuzhe pata nahin.
Tum taqdir hon meri,
mujhe khabar nahin.
   
Reply With Quote
Old
  (#2)
Phoenix
Registered User
Phoenix is on a distinguished road
 
Offline
Posts: 100
Join Date: Nov 2015
Location: Odisha
Rep Power: 3
30th October 2018, 12:11 PM

Bohot khub.....firoz ji

Sukhe jameen ki jo dard hai wo baadal hi samajhta hai......Bund bund paani se bhigoke fir se hariyali le aata hai....


उन बीते लम्हों को ना याद दिलाया करो
सुलग रही है दिल में आग कई, उनको हवा ना दिया करो

   
Reply With Quote
Old
  (#3)
sameer'shaad'
~$uper M0der@tor~
sameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.comsameer'shaad' is the among the best Shayars at Shayri.com
 
sameer'shaad''s Avatar
 
Offline
Posts: 8,375
Join Date: Feb 2006
Rep Power: 55
7th November 2018, 05:08 PM

Quote:
Originally Posted by Firoz Sayyad View Post
क्या वह अहसास था, एक अजीबसी चाहत हो जैसे
बदल यही गरजते थे, जैसे सारा आसमान भर आया था
ठंडी हवाकि लहरे, लहरोंमें यही दिलका मचलना
टपकती बुँदे, बूंदोंका टपकना जैसा किसीका मुस्कुराना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

एक एक बुंदका, बदनसे सिमटना जैसे दोहरी जिंदगी
एक नयापन, एक नया अंदाज़, एक नया अहसास
बारिशने भिगो दिया, जैसे सारी कायनात भीगे जा रही हैं
पनिका उमड़ना, जैसे ज़ारनोका बहते रहना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

फूलोंसे पत्तोंसे वह बूंदोंका सिमटना, रात की अँगड़ाईयोंमें चमकीले अजूबे
हवाकि लहरोंसे बूंदोंका फिसलना, जमीमे सिमटना
क्या यह अंदाज़ हैं, सारी कयनात्सी महक रही हो
यही ख्याल आये, यह बाहता पानी किसे जाकर मिले
खयालमें उमड़ना, यही वही दुनियामें खोये हुए रहना
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

सारी दुनियाको भिगो दिया, बहते हुए रास्तो का पानी
हर चेहरेपे खुशियाली और, जैसे छाई हुई मुस्कराहटे
यह भी एक उसकी करमतसी, जिसने इसे बना दिया
हर मौसम का एक मौसम, बारिश का मौसम
बारिश हो रही हैं, जमिनको भिगो रही हैं

-- फ़िरोज़ सय्यद

bahot khoob...............

likhte rahiye

Shaad...


Shaad...
   
Reply With Quote
Reply

Thread Tools
Display Modes Rate This Thread
Rate This Thread:

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off

Forum Jump



Powered by vBulletin® Version 3.8.5
Copyright ©2000 - 2018, Jelsoft Enterprises Ltd.
vBulletin Skin developed by: vBStyles.com