Shayri.com  

Go Back   Shayri.com > Shayri > Aapki Shayri

 
 
Thread Tools Rate Thread Display Modes
Prev Previous Post   Next Post Next
Mohobbat Hai Kya bas aise hi ek pal me maine hai jaana..
Old
  (#1)
nalinmehra
The Lost Poet
nalinmehra is just really nicenalinmehra is just really nicenalinmehra is just really nicenalinmehra is just really nicenalinmehra is just really nice
 
nalinmehra's Avatar
 
Offline
Posts: 312
Join Date: Nov 2008
Rep Power: 13
Love Mohobbat Hai Kya bas aise hi ek pal me maine hai jaana.. - 27th March 2009, 01:56 PM

मोहोब्बत है क्या बस ऐसे ही एक पल मैं मैंने है जाना......

वो झुकी झुकी सी आँखें उसकी और लबों पे मुस्कान का खिल आना,
बस मेरी एक छुअन से उसका ख़ुद में सिमट जाना,
फिर हौले से खोलना झील सी आँखें और मेरा उनमे डूब जाना,
शरारत भरी निगाहों से फिर मेरे दिल मैं उसका उतर जाना,
रखना फिर मेरे कांधे पे सर अपना और उसका वो ग़ज़ल गुनगुनाना,
मोहोब्बत है क्या बस ऐसे ही एक पल मैं मैंने है जाना.......

वो पायल की झंकार और उसकी चूड़ियों का खनखनाना,
चाल में मस्ती और उसका आँचल को लहराना,
सुनकर मेरी बातों को उसका हौले से मुस्कुराना,
मेरी हंसी मैं ढूँढना खुशी और मेरी उदासी मैं उदास हो जाना,
जो लगे चोट मुझे तोः रो-रो के उसका बेहाल हो जाना,
मोहोब्बत है क्या बस ऐसे ही एक पल मैं मैंने है जाना.......

वो करना शाम ढले तक बातें और थाम के हाथ मेरा सपने सजाना,
बहुत मासूमियत से उसका मुझे ज़िन्दगी का फलसफा समझाना,
जब हो लम्हा उदासी भरा तोः उसका मुझे गले लगाना,
छाये जब अँधेरा गम का तोः खुशी की किरन बन जाना,
मोहोब्बत है क्या बस ऐसे ही एक पल मैं मैंने है जाना,
मोहोब्बत है क्या बस ऐसे ही एक पल मैं मैंने है जाना......


For More of My Poetry & Couplets Please Visit My Blog at
www.nalin-mehra.blogspot.com



Nalin

Uski Har "Uff" pe hum apni jaan lutate rahe,
Uski Shaqsiyat ko karke buland hum khudko mitate rahe,
Raahe-e-mohobbat me hamne kuch yun paya sila wafa ka,
woh dete rahe zakhm pe zakhm aur ham muskurate rahe




Please Honor me and my creative writing by visitng my website @ www.nalin-mehra.blogspot.com
   
Reply With Quote
 

Thread Tools
Display Modes Rate This Thread
Rate This Thread:

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off

Forum Jump

Similar Threads
Thread Thread Starter Forum Replies Last Post
zindagi khuch aise jee hai maine apni ajaz007in Shayri-e-Dard 0 5th June 2007 11:19 PM
Bas aise hi maine suna Tha.. chaahat Shayri-e-Ishq 10 8th September 2006 09:56 AM
Jaana Maine............... Eyes Hindi/Urdu Lyrics 0 30th January 2006 04:18 AM
Judaayi ka gam kya asar laata hai ye maine aaj jaana naresh Shayri-e-Dard 5 31st May 2005 12:51 AM
dil aise mat khoo jaana tu karan q Shayri-e-Dard 0 3rd June 2004 06:11 PM



Powered by vBulletin® Version 3.8.5
Copyright ©2000 - 2017, Jelsoft Enterprises Ltd.
vBulletin Skin developed by: vBStyles.com