View Single Post
Old
  (#13)
NakulG
Registered User
NakulG is a glorious beacon of lightNakulG is a glorious beacon of lightNakulG is a glorious beacon of lightNakulG is a glorious beacon of lightNakulG is a glorious beacon of light
 
Offline
Posts: 147
Join Date: Aug 2014
Rep Power: 11
8th September 2014, 04:29 PM

Honsala badhane ke liye shukriya Sunita Ji!!

[QUOTE=sunita virender;467957]
Quote:
Originally Posted by NakulG View Post
तेरी तसवीर से चिलमन को हटाया जाये ,
चलो कुछ देर चराग़ों को "जलाया" जाये !!

बहुत सजाये हैं, बहारों में गुलशन,
चलो इस बार, सेहरा को सजाया जाये !!

मुझे सीरत मेरी दिखाते हैं ये लोग,
चलो आईना, अब आईनों को दिखाया जाये !!

पथ्थरों को बहुत पिला के देखा है ,
चलो पानी, परिन्दों को पिलाया जाये !!

ज़ख्मों को लिए मयकदे में आये हैं ,
"चलो मरहम तबीबों को लगाया जाये"!!

खता की जड़ में आख़िर रखा क्या है,
चलो, रूठे हबीबों को मनाया जाये !!

खो कर पाना, पा के खोना ही है हयात,
चलो, के घर रकीबों का बसाया जाये !!

बहुत सताया है, इस लंबे सफर ने ,
चलो, अब मंज़िलों को थकाया जाये !!

बहुत तड़पी हैं ये आँखें रिस रिस कर,
चलो पानी को शोलों से मिलाया जाये !!

चलो कुछ देर चराग़ों को जलाया जाये !![/QUOTE/]

Nakul ji......behad khoobsurat ahsaas lge aapne, kisi aik sher ki tareef nahi kar sakti, sabhi sher tareef ke kabil hai...!
   
Reply With Quote